Essay On Rakhi In Punjabi Language

Raksha Bandhan Essay in Hindi अर्थात इस article में आपके लिए रक्षा बंधन के पर्व पर एक निबंध हिन्दी में नुक्ते बनाकर दिया गया है. राखी भाई-बहन के प्यार का प्रतीक है.

“कितना पावन, कितना निर्मल राखी का त्योहार राखी के पावन धागों में छिपा बहन का प्यार ।”

भूमिका – रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के पवित्र स्नेह का प्रतीक है । यह हिंदुओं का विशेष त्योहार है । भाई-बहन के स्नेह का प्रतीक ऐसा त्योहार विश्व के किसी भी देश में नहीं मनाया जाता । श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन मनाए जाने के कारण इसे श्रावणी नाम से भी जाना जाता है ।

पौराणिक एवं ऐतिहासिक संबंध – इतिहास को देखने पर रक्षाबंधन के तीन रूप नजर आते हैं । सर्वप्रथम रक्षा की कामना के रूप इसका हुआ । युद्ध समय, व्यापार प्रतीक के में प्रयोग भूमि में जाते के लिए विदेशों में समुद्र यात्रा पर जाने से पहले पत्नियां, परिवार के अन्य सदस्य, ब्राह्मण आदि रक्षा सूत्र बांधकर पुरुष के सुरक्षित लौटने की कामना करते थे । इस बात के कई उदाहरण मिलते हैं । कहते हैं कि देवों तथा असुरों के मध्य भयंकर युद्ध छिड़ जाने पर इंद्र ने युद्ध भूमि में जाने से पूर्व उसकी पत्नि शची ने अपने पति की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधा था । इसका दूसरा रूप हमें उस समय देखने को मिलता है जब आश्रितों द्वारा सशक्तों की कलाई पर रक्षासूत्र बांधकर उनसे प्रण लिया जाता था कि वे उनकी रक्षा करेंगे । इसके प्रमाण गुरुकुल प्रथा में मिलते हैं । गुरुकुलों में इस दिन अध्ययन एवं अध्यापन का नववर्ष प्रारंभ होता है । इस दिन राजे-महाराजे गुरुकुलों में जाकर यज्ञ में भाग लेते हैं और वेद, ब्राह्यण एवं गौ-रक्षा का प्रण लेते हैं । तब ऋषि-महर्षि राजाओं की कलाईयों पर रक्षासूत्र बांधते थे । सिकन्दर एवं पोरस कें मध्य युद्ध में सिकन्दर की प्रेमिका ने पोरस की कलाई पर राखी बांधकर अपने प्रेमी. की प्राण रक्षा का वचन लिया था । यही कारण है कि सिकन्दर वध के बार-बार अवसर मिलने पर भी पोरस ने सिकन्दर का वध नहीं किया । संभवत : राखी बांधने के कारण मुंहबोली बहन के सुहाग की रक्षा के लिए ऐसा किया होगा । इसी प्रकार जब बहादुर शाह ने मेवाड़ पर आक्रमण किया तो चित्तौड़ की महारानी कर्मवती ने मुगल शासक हुमायूँ को राखी भेजी थी तथा हुमायूँ ने कर्मवती की रक्षा भी की थी । राखी के धागे में इतनी शक्ति है कि एक विधर्मी भी उससे प्रभावित हुए बिना न रह सका ।

पर्व मनाने का ढंग – रक्षाबंधन का त्योहार भाई-बहन के संबंध को और भी मधुर एवं प्रगाढ़ बना देता है । इस दिन बहनें अपने भाई के हाथ में राखी बांधकर उनसे अपनी रक्षा का व्रत लेती हैं तथा भाई की दीर्घायु की कामना करती हैं । भाई बहन की रक्षा का वचन देता है । आजकल भाई अपनी सामर्थ्य अनुसार बहन को उपहार भी देता है । राखी से कुछ दिन पहले ही बाजार राखियों, उपहारों एवं मिठाईयों से सजे होते हैं । इसका प्रारंभिक रूप मौली का धागा था परंतु आज के आडम्बर प्रधान युग में राखियों में भी आडम्बर दिखाई देता है । बहनें राखी, मिठाई एवं फल आदि चीजें भाई को भेंट करती हैं तथा भाई आशीर्वाद तथा उपहार या रुपये देता है ।

आश्रितों की रक्षा से होता हुआ आज यह त्योहार विशेषकर भाई द्वारा बहन की रक्षा के भाव तक सीमित होकर रह गया है । इस परिवर्तन का कारण समकालीन राजनैतिक परिस्थितियां थीं जिसमें बहन की रक्षा करना भाई का उत्तरदायित्व हो गया । प्राचीनकाल में वैसे तो .स्त्रियां तलवारबाजी, घुड़सवारी आदि में प्रवीण थी तथा अपनी रक्षा स्वयं कर सकती थी परंतु आपत्ति के समय रक्षा सूत्र बांधकर भाईयों की सहायता भी लेती थी ।

उपसंहार – आजकल राखी के त्योहार की पवित्रता धीरे-धीरे समाप्त होती जा रही है तथा सच्चे प्रेम का स्थान खो गया है । बहन कोकेवल धन या उपहार देकर भाई का कर्त्तव्य समाप्त नहीं हो जाता । हमें राखी के त्योहार की पवित्रता को भी ध्यान में रखना चाहिए तथा आजीवन बहन की रक्षा का व्रत लेना चाहिए । राखी का महत्त्व उसकी सुन्दरता में नहीं बल्कि उन धागों में छिपी प्राचीन परंपरा एवं भाई-बहन के प्यार की पवित्र भावना में है ।


रक्षाबन्धन

शाश्वत स्नेह और सुरक्षा की दृष्टि से आश्वस्त करने वाला यह त्योहार भाई-बहन के प्रेम का साक्षी एक पवित्र साँस्कृतिक त्योहार है । यों यह मुख्य रूप से हिन्दू जाति और धर्मावलम्बियों के घरी में ही मनाया जाता है; पर अन्य जातियो के व्यक्तियों को भी राखी बान्धते बन्धवाते पूर्व इतिहास में तो देखा ही गया है, आजकल भी अक्सर दिखाई दे जाया करता है । कई बार हिन्दू बहनें किसी मुस्लिम या अन्य जाति-वर्ग के भाई को राखी बान्धती हुई दिखाई दे जीती हैं ।

इसी प्रकार हिन्दू भाई अन्य जाति की बहनो से आग्रहपूर्वक पवित्र राखी के धागे कलाई पर बन्धवा कर उनके प्रेम और सुरक्षा का दायित्व अपने-आप पर लेते हुए सुने-देखे जाते हैं । इस प्रकार प्रमुख रूप से वह बहन-भाई के पवित्र प्रेम और अटूट रिश्ते-नाते को रूपायित करने वाला त्योहार ही है ।  रक्षाबन्धन या राखी का यह पर्व कब, क्यों और किस प्रकार आरम्भ हुआ, पुराण-इतिहास में इस का कोई स्पष्ट उल्लेख नहीं मिलता । ही, विशेष अवसरो पर वहाँ पुरोहितो द्वारा अपने यजमानो की दाहिनी कलाई मे रक्षा या मंगल कामना करते हुए एक मौलिसूत्र बाँधने का वर्णन या विधान अवश्य मिलता है ।

बाद में यह विधान भी मिलने लगता है कि हिन्दू राजा और सामन्त आदि जब युद्ध करने जाया करते थे, तब उनकी माताएँ, बहनें और पत्नियाँ उनके माथे पर अक्षतकुंकुम का केसर लगा कर एक मौलि सूत्र उन की विजय एवं मंगल-कामना करते हुए अवश्य बाँध दिया करती थीं । अनुमान होता है कि इसी रीति ने धीरे-धीरे विकास कर के रक्षाबन्धन का स्वरूप धारण कर लिया होगा । बाद में शान्ति काल में इस का विधान केवल भाई-बहनों तक ही रूढ एवं सीमित हो कर रह गया होगा । आज रक्षाबन्धन का त्योहार बहनो द्वारा अपने भाईयों की कलाइयों पर सुन्दर-संजीली राखियाँ बान्धने. बदले में कुछ धन पाने तक ही सीमित होकर रह गया है । ही, पुजारी-पुरोहित भी इस दिन अपने यजमानों की कलाई पर लालसूत्र बाँध कर बदले में कुछ दक्षिणा प्राप्त करते हुए आज भी दिखाई दे जाते हैं ।

इसे मात्र परम्परा को निबाहे जाना ही कहा जा सकता है । कभी राखी के कच्चे धागों के बन्धन के प्रभाव एवं शक्ति को अचूक माना जाता था, इस तथ्य में तनिक भी सन्देह नहीं । इतिहास इस बात का जीवन्त गवाह- है कि जब कभी भी किसी जातीय या विजातीय भाई को किसी बहन ने राखी भिजवाई, उसे पवित्र प्रेम का अमर- निश्छल निमंत्रण मान कर उस भाई ने अपने दुःख-सुख, संकट-विपदा आदि की परवाह किए बिना प्राण-पण की बाजी लगा कर मुँह बोली बहन के वचन की रक्षा के लिए अपने सर्वस्व की बाजी लगा दी । चित्तौड के महाराणा संग्राम सिंह की मृत्यु के बाद जब सुल्तान बहादुरशाह ने चारों ओर से चित्तौड गढ को घेर लिया था, तब अपने-आप को नितान्त असहाय पाकर महारानी कर्मवती ने शहनशाह हुमायूँ को राखी भिजवा कर अपने राज्य की रक्षा के लिए मौन निमंत्रण दिया ।

राखी की पवित्रता और महत्त्व को समझने वाले हुमायूँ स्वयं शेरशाह सूरी के आक्रमणो से आतकित रहने पर भी मुँहबोली बहन कर्मवती के चित्तौड की रक्षा के लिए भागे आए थे । यह ठीक है कि समय पर न पहुँच पाने के कारण वे चित्तौड को पराजित होने और कर्मवती को जौहर की ज्वाला में जल मरने से बचा नहीं पाए, पर बाद में बहादुर शाह को पराजित कर और मेवाड के असली वारिस (उदयसिंह) को उसके राज्य पर अधिष्ठित करवा कर उन्होने राखी का मोल भरसक चुका दिया । इस प्रकार इस ऐतिहासिक घटना ने रक्षाबन्धन जैसे पवित्र पर्व का महत्त्व निश्चय ही और बढ दिया ।

आज भी रक्षाबन्धन का पर्व आने पर बाजार रंग-बिरंगी राखियों से भर जाते हैं । राखी खरीदने वाली बहनो की बाजारों में भीड-भाड भी काफी रहा करती है । मिठाइयों की दुकानें और स्टील भी भरे-पूरे एवं सजे-धजे रहा करते हैं । वहाँ भी खूब खरीददारी होती है । रक्षाबन्धन वाले दिन सजी-धजी बहनों की भीड घरों, बाजारों, बसों, स्कूटरों, कारों आदि में अपनी-अपनी हैसियत के साथ सर्वत्र देखी-परखी जाती है । लेकिन अब यह सब मात्र एक परम्परा का निर्वाह, एक औपचारिकता बनकर ही अधिक रह गया है । आज राखी बान्धने के बाद बहनें गिनती करती हैं कि उसके भाई ने उसे कितने नोट आदि दिए । यह देखती भी हैं कि उसने अपनी हैसियत और उस (बहन) के स्टेटस के अनुसार दिया है कि नहीं ।

विवाहित बहनों से पतियों -सासों आदि द्वारा पूछा-परखा जाता है कि राखी बाँध कर वह कितनी उगाही कर लाई है । स्पष्ट है कि इस प्रकार की पूछ-ताछ और जाँच-परख बहन-भाई के पवित्र स्नेह बन्धन की कसौटी, होकर हैसियत जानने-देखने की कसौटी ही हुआ करती है । इसी कारण आज रक्षाबन्धन का पावन त्योहार भी अन्य सभी त्योहारों की तरह एक लकीर को पीटे जाना ही प्रतीत होने लगा है और उचित ही लोग इस तरह की औपचारिकताओं का विरोध करने लगे हैं । ठीक डग और सच्चे मन से मनाए जाकर ही पर्व और त्योहार किसी जाति की साँस्कृतिक जीवन्तता के प्रतीक एवं परिचायक बने रहा करते हैं ।

त्योहारों के अवसरो पर व्यक्त परम्पराओं और रीति-नीतियों के उचित निर्वाह से ही किसी संस्कृति के उदात एवं सात्विक गुण भी उजागर हो पाया करते हैं । अत: यदि हम लोग रक्षाबन्धन की पावन अंतरंगत एवं साँस्कृतिक उच्चता को ध्वस्त नहीं होने देना चाहते, तो हमें उसमें आ गई औपचारिकता का निराकरण करना ही होगा ।


ज़रूर पढ़िए:


हमें पूरी आशा है कि आपको हमारा यह article बहुत ही अच्छा लगा होगा. यदि आपको इसमें कोई भी खामी लगे या आप अपना कोई सुझाव देना चाहें तो आप नीचे comment ज़रूर कीजिये. इसके इलावा आप अपना कोई भी विचार हमसे comment के ज़रिये साँझा करना मत भूलिए. इस blog post को अधिक से अधिक share कीजिये और यदि आप ऐसे ही और रोमांचिक articles, tutorials, guides, quotes, thoughts, slogans, stories इत्यादि कुछ भी हिन्दी में पढना चाहते हैं तो हमें subscribe ज़रूर कीजिये.



Filed Under: Essay | निबंधTagged With: 10 lines on raksha bandhan, 10 lines on raksha bandhan in english, 10 lines on raksha bandhan in hindi, 2016 rakhi, 2016 rakhi date, 2016 raksha bandhan, 2016 raksha bandhan date, 5 lines on raksha bandhan, a paragraph on raksha bandhan, a paragraph on raksha bandhan in hindi, a short essay on raksha bandhan, about rakhi, about rakhi festival, about rakhi festival in hindi, about rakhi in hindi, about raksha bandhan, about raksha bandhan essay, about raksha bandhan essay in hindi, about raksha bandhan festival, about raksha bandhan festival in english, about raksha bandhan festival in hindi, about raksha bandhan in english, about raksha bandhan in hindi, about raksha bandhan in hindi language, about rakshabandan, an essay on raksha bandhan, an essay on raksha bandhan in hindi, anuched on raksha bandhan in hindi, article on raksha bandhan, article on raksha bandhan in english, article on raksha bandhan in hindi, auspicious time for raksha bandhan, beautiful rakhis, beautiful rakhis raksha bandhan, best rakhi, best rakhi gift, best time for raksha bandhan, bollywood raksha bandhan, bracelet rakhi, brother and sister rakhi, brother rakhi, brother sister rakhi, buy online rakhi, buy rakhi, buy rakhi online, cards for rakhi, cards for raksha bandhan, celebrating raksha bandhan, celebration of raksha bandhan, chart on raksha bandhan, cheap rakhi, composition on raksha bandhan, composition on raksha bandhan in hindi, date of rakhi, date of rakhi 2016, date of rakhi festival, date of raksha bandhan, date of raksha bandhan 2016, date of raksha bandhan in 2016, date of raksha bandhan this year, design of rakhi, designer rakhi, details of raksha bandhan, diamond rakhi, e rakhi, essay about raksha bandhan in english, essay in hindi on raksha bandhan, essay in hindi raksha bandhan, essay of raksha bandhan, essay of raksha bandhan in english, essay of raksha bandhan in hindi, essay on rakhi, essay on rakhi festival in english, essay on rakhi in hindi, essay on rakhi in hindi language, essay on rakhi in punjabi, essay on raksha bandan, essay on raksha bandhan, essay on raksha bandhan for children, essay on raksha bandhan for kids, essay on raksha bandhan in english, essay on raksha bandhan in english for kids, essay on raksha bandhan in gujarati, essay on raksha bandhan in gujarati language, essay on raksha bandhan in hindi, essay on raksha bandhan in hindi for kids, essay on raksha bandhan in hindi language, essay on raksha bandhan in marathi, essay on raksha bandhan in marathi language, essay on raksha bandhan in punjabi, essay on raksha bandhan in sanskrit, essay on raksha bandhan in sanskrit language, essay on raksha bandhan written in hindi, essay on rakshabandhan, essay on rakshabandhan in hindi, essay raksha bandhan, essay raksha bandhan in hindi, essay writing on raksha bandhan, fancy rakhi, festival of rakhi, festival of raksha bandhan, festival rakhi, festival raksha bandhan, few lines about raksha bandhan, few lines on rakhi festival, few lines on raksha bandhan, few lines on raksha bandhan for kids, few lines on raksha bandhan for kids in hindi, few lines on raksha bandhan in hindi, five lines on raksha bandhan, free rakhi, free rakhi cards, free raksha bandhan cards, gift rakhi, gifts for brother on rakhi festival, gifts for rakhi, gifts for rakhi festival, gifts for raksha bandhan, gold rakhi, greeting cards for raksha bandhan, greeting cards of raksha bandhan, greeting cards on raksha bandhan, greetings for rakhi, greetings for raksha bandhan, greetings of rakhi, greetings of raksha bandhan, hand made rakhi, hand rakhi, handmade rakhi, handmade rakhi designs, handmade rakhis, happy rakhi, happy rakhi purnima, happy raksha bandan, happy raksha bandhan, happy raksha bandhan day, happy raksha bandhan sms, happy raksha bandhan to all, happy raksha bhandhan, happy rakshabandan, hindi essay on raksha bandhan, hindi nibandh on raksha bandhan, hindi poem on raksha bandhan, hindi poems raksha bandhan, hindi rakhi, hindi raksha bandhan, hindi raksha bandhan sms, hindi sms raksha bandhan, hindi speech on raksha bandhan, hindu festival raksha bandhan, hindu rakhi, hindu raksha, hindu raksha bandhan, history behind raksha bandhan, history of rakhi, history of rakhi festival in hindi, history of raksha bandhan, history of raksha bandhan festival, history of raksha bandhan festival in hindi, history of raksha bandhan in hindi, history of raksha bandhan in hindi language, history raksha bandhan, how to celebrate rakhi, how to celebrate rakhi festival, how to celebrate raksha bandhan, how to make a rakhi, how to make a rakhi for raksha bandhan, how to make rakhi, how to make rakhi for raksha bandhan, how to make raksha bandhan rakhi, how to prepare rakhi for raksha bandhan, how to send rakhi, how to send rakhi online, images for raksha bandhan, images of rakhi for raksha bandhan, images of raksha bandhan, images of raksha bandhan festival, images of raksha bandhan rakhi, images raksha bandhan, importance of rakhi, importance of rakhi festival in india, importance of rakhi in hindi, importance of raksha bandhan, importance of raksha bandhan in hindi, indian festival rakhi, indian festival raksha bandhan, indian holiday rakhi, indian rakhi, indian rakhi festival, indian raksha bandhan, information about raksha bandhan, information about raksha bandhan festival, information about raksha bandhan in english, information about raksha bandhan in hindi, information about raksha bandhan in hindi language, information of raksha bandhan, information of raksha bandhan in hindi, information of raksha bandhan in marathi, information on rakhi, information on raksha bandhan, information on raksha bandhan in hindi, is today raksha bandhan, kids rakhi, letter for raksha bandhan to brother in english, lines for raksha bandhan, lines on rakhi, lines on raksha bandhan, lines on raksha bandhan in english, lines on raksha bandhan in hindi, lumba rakhi, making rakhi, marathi essay on raksha bandhan, marathi raksha bandhan sms, meaning of rakhi, meaning of raksha bandhan, messages on raksha bandhan, muhurat for rakhi, muhurat for raksha bandhan, nibandh in hindi on raksha bandhan, nibandh on raksha bandhan in hindi, occasion of raksha bandhan, on raksha bandhan, on which day is raksha bandhan, online rakhi, online rakhi cards, online rakhi delivery, online rakhi for raksha bandhan, online rakhi gifts, online rakhi gifts to india, online rakhi greetings, online rakhi in india, online rakhi india, online rakhi order, online rakhi send, online rakhi shop, online rakhi shopping, online rakhi store, online rakhi to india, online raksha bandhan, online shopping for rakhi, online shopping rakhi, order rakhi online, origin of raksha bandhan, paragraph on rakhi, paragraph on rakhi in hindi, paragraph on raksha bandhan, paragraph on raksha bandhan in english, paragraph on raksha bandhan in hindi, paragraph on raksha bandhan in hindi language, pearl rakhi, photos for raksha bandhan, photos of rakhi bandhan, photos of raksha bandhan, photos of raksha bandhan festival, photos of raksha bandhan rakhi, photos on raksha bandhan, pics for raksha bandhan, pics of rakhi for raksha bandhan, pics of raksha bandhan, pics of raksha bandhan rakhi, picture of raksha bandhan festival, pictures of raksha bandhan, poem on raksha bandhan, poem on raksha bandhan in hindi, quotes for raksha bandhan, quotes on raksha bandhan, raakhi, rakhi, rakhi 2016, rakhi 2016 calendar, rakhi 2016 date, rakhi a, rakhi august, rakhi bandan, rakhi bhandan, rakhi bracelet, rakhi brother, rakhi brother and sister, rakhi buy, rakhi canada, rakhi cards, rakhi celebration, rakhi celebration date, rakhi ceremony, rakhi collection, rakhi date, rakhi date 2016, rakhi date in 2016, rakhi date in india, rakhi date this year, rakhi day, rakhi day 2016, rakhi delhi, rakhi delivery, rakhi delivery in india, rakhi delivery india, rakhi design, rakhi e cards, rakhi ecards, rakhi essay, rakhi essay in english, rakhi essay in hindi, rakhi festival, rakhi festival 2014, rakhi festival 2016, rakhi festival 2016 date, rakhi festival date, rakhi festival date in 2016, rakhi festival essay, rakhi festival essay in hindi, rakhi festival gifts, rakhi festival greetings, rakhi festival history, rakhi festival history in hindi, rakhi festival images, rakhi festival in 2016, rakhi festival in hindi, rakhi festival in india, rakhi festival pictures, rakhi festival this year, rakhi for bhabhi, rakhi for brother, rakhi for india, rakhi for kids, rakhi for raksha bandhan, rakhi for sister, rakhi gift hampers, rakhi gift ideas, rakhi gifts, rakhi gifts for brothers, rakhi gifts for kids, rakhi gifts for sisters, rakhi gifts india, rakhi gifts online, rakhi gifts to india, rakhi gifts usa, rakhi greeting cards, rakhi greetings, rakhi hampers, rakhi hand, rakhi hindu, rakhi hindu festival, rakhi history, rakhi holiday, rakhi ideas, rakhi images, rakhi in, rakhi in 2016, rakhi in august, rakhi in hindi, rakhi in india, rakhi in uk, rakhi in us, rakhi in usa, rakhi in which hand, rakhi india, rakhi indian festival, rakhi indian holiday, rakhi information, rakhi is on, rakhi ka mulya, rakhi lines, rakhi making, rakhi manufacturer, rakhi meaning, rakhi message, rakhi messages, rakhi of raksha bandhan, rakhi offers, rakhi on, rakhi on line, rakhi on raksha bandhan, rakhi on which date, rakhi online, rakhi online india, rakhi online shopping, rakhi online to india, rakhi panduga, rakhi photos for raksha bandhan, rakhi photos raksha bandhan, rakhi pictures, rakhi pictures raksha bandhan, rakhi poems, rakhi pooja thali, rakhi pournami, rakhi puja thali, rakhi purnima date, rakhi raksha bandhan, rakhi raksha bandhan images, rakhi rakshabandhan, rakhi recipes, rakhi recipes in hindi, rakhi return gifts, rakhi sale, rakhi scraps, rakhi send, rakhi sets, rakhi shop, rakhi shopping, rakhi shopping online, rakhi sister, rakhi songs, rakhi special, rakhi store, rakhi story, rakhi sweets, rakhi thali decoration, rakhi thali to india, rakhi this year, rakhi threads, rakhi time, rakhi timings, rakhi to australia, rakhi to brother, rakhi to canada, rakhi to hyderabad, rakhi to india, rakhi to india from usa, rakhi to uk, rakhi to us, rakhi to usa, rakhi today, rakhi tying, rakhi uk, rakhi us, rakhi usa, rakhi which date, rakhi wishes, rakhi with dry fruits, rakhi with sweets, rakhi world, rakhie, rakhies, rakhis to us, raksha, raksha badan, raksha badhan, raksha banda, raksha bandahan, raksha bandan, raksha bandan date, raksha bandan day, raksha bandan gifts, raksha bandan images, raksha bandan in hindi, raksha bandan photos, raksha bandan pic, raksha bandana, raksha banden, raksha bandham, raksha bandhan, raksha bandhan 2016, raksha bandhan 2016 date, raksha bandhan 2016 date in india, raksha bandhan 2016 day, raksha bandhan article in hindi, raksha bandhan auspicious time, raksha bandhan bands, raksha bandhan bollywood, raksha bandhan bracelet, raksha bandhan brother, raksha bandhan brother and sister, raksha bandhan calendar, raksha bandhan cards, raksha bandhan celebration, raksha bandhan celebration ideas, raksha bandhan chart, raksha bandhan com, raksha bandhan composition, raksha bandhan composition in hindi, raksha bandhan date, raksha bandhan date 2016, raksha bandhan date in 2016, raksha bandhan date this year, raksha bandhan day, raksha bandhan details, raksha bandhan drawing, raksha bandhan ecards, raksha bandhan essay, raksha bandhan essay for kids, raksha bandhan essay for primary student, raksha bandhan essay in 100 words, raksha bandhan essay in english, raksha bandhan essay in english for kids, raksha bandhan essay in gujarati, raksha bandhan essay in hindi, raksha bandhan essay in hindi for kids, raksha bandhan essay in hindi language, raksha bandhan essay in marathi, raksha bandhan festival, raksha bandhan festival date, raksha bandhan festival essay, raksha bandhan festival essay in hindi, raksha bandhan festival in hindi, raksha bandhan festival information, raksha bandhan for brother, raksha bandhan for children, raksha bandhan for sister, raksha bandhan geet, raksha bandhan gift ideas, raksha bandhan gifts, raksha bandhan gifts for sister, raksha bandhan gifts to brothers, raksha bandhan gifts to india, raksha bandhan greeting cards, raksha bandhan greetings, raksha bandhan hindi, raksha bandhan hindi essay, raksha bandhan hindi sms, raksha bandhan history, raksha bandhan history in hindi, raksha bandhan holiday, raksha bandhan images, raksha bandhan images rakhi, raksha bandhan in 2016, raksha bandhan in 2016 date, raksha bandhan in bollywood, raksha bandhan in english, raksha bandhan in hindi, raksha bandhan in hindi essay, raksha bandhan in hindi language, raksha bandhan in india, raksha bandhan in marathi information, raksha bandhan in punjabi

English Language Bsc Past Papers

Holi Festival Essay

Sikh Environment Day Vatavaran Diwas

Mahatma Gandhi Essay

Punjab And Haryana High Court Clerk Exam Question Papers

Paper Punjab University Paper

Best Images About Punjabi English Language And

Pathkan De Patra

Library Essays Essay On Library In English Gxart Essays And

Short Essay On Terrorism

Essay Essay On Child Labour In Punjabi Language To English An

Essay On Maa Boli In Punjabi

Essay Essay On Child Labour In Punjabi Language To English An

Happy Lohri Essay Speech Nibandh In Hindi Punjabi English

Essay On Dom Fighters In Hindi Language

English Essay Speech English Essay Speech Our Work Parents Day

Punjabi Toefl Ielts Essay

Population Essay In English Essay On Cow In Punjabi Respect Rapid

Republic Day Essay In Hindi Punjabi English Essay On Republic

Drug Addiction Conclusion Essays

0 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *